Connect with us

राजनीति

कांग्रेस में राजद और जेबी पार्टियों के साथ गठबंधन को लेकर बड़ी रार

Published

on

झारखंड के चुनावी नतीजों से कांग्रेस के हौसले बुलंद हैं। महाराष्ट्र में भाजपा को सत्ता से बेदखल कर अपनी शर्तों पर शिवसेना की अगुवाई में सरकार में शामिल हुई कांग्रेस ने भाजपा का किला ध्वस्त कर झारखंड में भी सरकार में शामिल हो चुकी है। इस बार बिहार में पिछली 30 सालों से सत्ता से बाहर कांग्रेस अपने बूते सरकार बनाने की फिराक में है। लेकिन बिहार कांग्रेस संगठन को समझने वाले कांग्रेस को तीन धड़ों में बांटते हैं। एक धड़ा भाई का ओहदा लिए अहमद और राजद सुप्रीमो लालू यादव को मानने वाला खेमा है। ये खेमा किसी तरह से अपने चुनींदा लोगों को लड़ाकर कांग्रेस को राजद की गोद में छोड़ देता है। इसी खेमे में प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल, वीरेंद्र सिंह राठौड़, प्रदेश अध्यक्ष मदन मोहन झा, एमएलसी प्रेमचंद मिश्रा और राज्यसभा सांसद अखिलेश सिंह कर्ताधर्ता बने हुए हैं। पार्टी कार्यकर्ताओं की नजर में ये खेमा बिहार में टिकट और पद बेचो गैंग के नाम से कुख्यात है।

दूसरे खेमे की अगुवाई पिछले तीन सालों से मुख्यधारा में अपने पुराने तेवरों के साथ पूर्व मंत्री श्याम सुंदर सिंह धीरज कर रहे हैं। वर्तमान में इस खेमे में एनसीपी से वापस कांग्रेस में वापसी करने वाले तारिक अनवर, नीतीश के राजनीतिक उस्ताद पूर्व विधायक सतीश कुमार भी अपने पुराने मतभेदों को भुलाकर साथ जुड़ गए हैं। इस खेमे में नेताओं की कमी है, लेकिन हर जिले में कार्यकर्ताओं का हुजूम ज्यादा है।
ये खेमा अपने अंदाज में कांग्रेस को अकेले चुनाव लड़ने का मशविरा दे रहा है। उनके साथ प्रदेश में जमीन से जुड़े छुटभैये नेताओं का जमावड़ा है। ये खेमा एनआरसी, सीएए और एनपीआर जैसे विवादास्पद कानून के साथ किसानों, युवाओं और विकास के नाम पर फिसड्डी साबित हुई बिहार सरकार के प्रति उपजे असंतोष को भांपते हुए प्रदेश नेतृत्व बदलने के साथ-साथ कांग्रेस को एकला चलो की राह पकड़ने की रट लगाए हुए है।

इस खेमे में तारिक और धीरज की अगुवाई में ऐसे नेताओं की संख्या बढ़ गई है जो 80-90 के दशक में छात्र और युवा संगठनों से जुड़े रहे हैं। 77 में उखड़ गई कांग्रेस को दुबारा से सत्ता पर काबिज कराने का सेहरा इन्हीं नेताओं के सिर पर है। तीसरा खेमा मौका परस्त नेताओं की अगुवाई कर रहे सीएलपी लीडर सदानंद सिंह के साथ है जिसमें कई विधायक शामिल हैं। ये कब पाला बदल लें, इनको भी पता नहीं होता।
वहीं राज्यसभा का ख्वाब देख रहे और पांच बार पार्टी के टिकट पर बुरी तरह पराजित होकर भी राष्ट्रीय नेता की छवि बनाए डाक्टर अशोक राम, तथस्त रहने वाले पूर्व गवर्नर निखिल कुमार, पूर्व लोकसभा अध्यक्ष मीरा कुमार सरीखे लोग हैं जो अपनी-अपनी उम्मीदवारी मिलने की आस लगाए बैठे हैं। राज्यसभा के चुनावों के बाद ये नेता अपने पत्ते खोलेंगे।

लोकसभा चुनाव में टिकटों की बंदरबांट से लेकर दिल्ली के वर्तमान विधानसभा चुनाव में राजद कोटे से कांग्रेसियों को चार सीटें दिलाने का इनाम के हकदारों में शक्ति सिंह गोहिल का नाम भी खासी चर्चा में हैं। विधानसभा चुनाव में जीतने की हैसियत खो चुके गोहिल येन-केन प्रकारेण सदन में घूसने को बेताब हैं। गुजरात और बिहार के खेल ने इनका रास्ता रोक दिया है। सदानंद सिंह भी अपने मुकद्दर की आजमाइश में अब तक कांग्रेस में रूके हुए हैं। पटना स्थित सदाकत आश्रम की तरफ नजर मारें तो मदन मोहन झा की अगुवाई में प्रभारी के साथ मिलकर ये गैंग लोकसभा चुनाव की तर्ज पर बिहार विधानसभा चुनाव को भी निबटाने की फिराक में हैं। इसी रणनीति के तहत कांग्रेसी कार्यकर्ताओं के विद्रोह को दबाने के लिए जिलाध्यक्षों और ब्लॉक अध्यक्षों को नियुक्ति पत्र थमाने और प्रदेश में कमिटियों में महत्वपूर्ण पद देने का झांसा दिया जा रहा है।

सूत्र बताते हैं कि कमिटी के लिए आलाकमान ने राजेश मिश्रा और अजय कपूर की गोपनीय रिपोर्ट पर कमिटी के गठन का खेल फिलहाल रोक दिया है। अशोक चौधरी के बाद टीम कौकब, फिर अब मदन मोहन झा की टीम ने तीन सालों से बिना नियुक्ति पत्र के नाम पर जिलाध्यक्ष और ब्लॉक अध्यक्ष से खिंचाई करती आ रही है। नियुक्ति पत्र दिलाने के नाम पर प्रदेश कांग्रेस में कारोबार का सिलसिला इस ठंडी के मौसम में भी सदाकत आश्रम को गरम किए हुए है। प्रदेश कांग्रेस के साथ प्रभारी का ये खेमा दिल्ली के विधानसभा चुनावों में राजद को 4 सीटें देकर बिहार में भी गठबंधन की डोर में एक मजबूत गांठ लगा चुका है। मगर राजद प्रत्याशियों के नाम सामने आने पर ये कारोबारी खेल खुल गया जिसमें दोनों दलों के राज्यसभा सांसदों की भूमिका के साथ-साथ बिहार के प्रभारी और दिल्ली स्क्रीनिंग के सदस्य पर सवाल उठ गए। चारों उम्मीदवार कांग्रेसी हैं।

राजद का दिल्ली में कोई संगठन नहीं है न ही किसी कार्पोरेशन या छोटे वार्ड में भी जगह नहीं मिली है। ऐसे में चार विधानसभा पकड़ाकर आलाकमान की आंखों में धूल झोंकने का काम किया गया। राजद की दिल्ली में सिचाई के नाम पर अपने प्रभारियों ने खिंचाई कर ली। बिहारियों और पूर्वांचल के नाम पर ये राजस्थान के बिश्नोई और पश्चिमी यूपी के त्यागियों का टिकट देकर इतिश्री कर ली गई। टीम राहुल के कोर ग्रुप के एक सदस्य ने बताया कि राजद के नाम पर कांग्रेसियों की उम्मीदवारी ने वीरेंद्र सिंह राठौड़ पर भी अंगुली उठा दी है। आलाकमान के निर्देश के बाद प्रभारी सचिव बने अजय कपूर ने गोहिल और राठौड़ की संगठन के प्रति उदासीनता और हुए कारोबार को देखते हुए अपनी अलग लाइन ले ली। उत्तर बिहार के मिले प्रभार में जिला और ब्लॉक अध्यक्षों को उनके कामों की समीक्षा करते हुए उनको एक ही चिट्ठी से नियुक्ति पत्र देने का मन बना चुके हैं। अब तक बिहार में किश्तों में जिलाध्यक्ष बनाए जा रहे थे। माल बटोरने के बाद नियुक्ति पत्र मिलता था। मुजफ्फरपुर इसका ताजा उदाहरण है जहां जिलाध्यक्ष की नियुक्ति पर खासा बवाल मचा था, इसमें एक दलित नेताओं को अपमानित करते हुए उनको अध्यक्ष पद से हटाकर कार्यकारी बना दिया गया था।

प्रभारी सचिव ने पटना प्रवास के दौरान प्रदेश कांग्रेस में पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं से हुई मुलाकात के बातचीत के आधार पर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी को विस्तृत रिपोर्ट सौंपी है जिसमें उन्होंने प्रदेश संगठन की खामियों को संगठन की वास्तविक स्थिति से अवगत करा दिया। इसमें उन्होंने तीन बिंदुओं पर खासा जोर दिया है जिसे पार्टी अलाकमान ने गंभीरता से लिया है।वर्तमान समय में एआईसीसी के नाम पर निर्धारित से तीन गुणा अधिक एआईसीसी सदस्य, निर्धारित से दोगुना ज्यादा पीसीसी डेलीगेट्स चिट्ठी लिए घूम रहे हैं। प्रदेश अध्यक्ष ने कई बार स्वीकार किया है कि उनके पास एआईसीसी और डेलीगेट्स की पूरी सूची नहीं हैं। जिला और ब्लॉक अध्यक्षों को अब तक नियुक्ति पत्र अब तक न मिलना वर्तमान प्रदेश अध्यक्ष की कार्यशैली पर सवाल खड़े करता है।

प्रभारी सचिव अजय कपूर और पर्यवेक्षक बने राजेश मिश्रा की मिलती-जुलती रिपोर्टों ने फिलहाल गोहिल और मदन मोहन झा के प्रदेश कांग्रेस कमिटी के नाम पर अपना दबदबा बनाए रखने की कोशिशों को बड़ा झटका दे दिया है। दिल्ली विधानसभा चुनावों के नतीजों के बाद बिहार के संगठन में प्रभारी के साथ-साथ प्रदेश अध्यक्ष की विदाई भी तय मानी जा रही है। अब तक टीम राहुल वीरेंद्र राठौड़ पर आंख मूंदकर भरोसा किए हुए थी, मगर दिल्ली में टिकट बंटवारे और राजद में कांग्रेसी प्रत्याशियों को लेकर वे भी सवालों के घेरे में हैं। आने वाले एआईसीसी के बड़े बदलावों के साथ बिहार में बड़ा उलटफेर होना तय है। राज्यसभा की दावेदारी किसके हाथ लगेगी। प्रदेश अध्यक्ष कौन बनेगा और चुनाव अभियान की कमान किसके हाथों में होगी, इसको लेकर घमासान होना तय है।

Advertisement

मनोरंजन

Amrapali-Dubey-sexy-hot-dance-video-set-the-internet-fire Amrapali-Dubey-sexy-hot-dance-video-set-the-internet-fire
मनोरंजन1 month ago

Amrapali Dubey Sexy Photo Video: आम्रपाली दुबे ने सेक्सी फोटो शेयर कर ढाया कहर, बोल्डनेस देख फैंस रह गए दंग

Amrapali Dubey Sexy Photo Video: हमेशा ही अपनी सेक्सी फोटो वीडियो को लेकर चर्चा में रहने वाली एक्ट्रेस आम्रपाली दुबे एक...

Sunny Leone Sunny Leone
मनोरंजन1 month ago

सनी लियोनी कोलकाता के जाने-माने कॉलेज की मेरिट लिस्ट में टॉपर!

बॉलीवुड एक्ट्रेस सनी लियोनी का शुक्रवार सुबह एक ट्वीट देखकर लोग हैरान रह गए। दरअसल एक ट्विटर यूजर ने कोलकाता...

Monalisa hot photos Monalisa hot photos
मनोरंजन3 months ago

Monalisa Photos: ब्लैक टॉप और शॉर्ट्स में कहर ढा रही है मोनालिसा, फोटो देखते ही बन जाओगे दिवाने !

भोजपुरी एक्ट्रेस मोनालिसा (Monalisa) इन दिनों सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव हो गई है। लॉकडाउन (Lockdown) में वह अपने पति...

Amrapali Dubey Amrapali Dubey
मनोरंजन3 months ago

Amrapali Dubey Photo Video: आम्रपाली दुबे की हॉट फोटो ने बढ़ाया सोशल मीडिया का पारा

Amrapali Dubey Photo Video: भोजपुरी फिल्मों के मशहूर एक्ट्रेसों में से एक आम्रपाली दुबे की एक तस्वीर सोशल मीडिया पर काफी...

Poonam pandey Poonam pandey
भारत5 months ago

Lockdown के नियम तोड़कर मुश्किल में फंसीं एक्ट्रेस Poonam Pandey, हुआ मामला दर्ज

मुंबई पुलिस ने लॉकडाउन का उल्लंघन करने के आरोप में रविवार को मॉडल और अभिनेत्री पूनम पांडे (Poonam Pandey) के खिलाफ...

बड़ी खबरें

Immunity Booster Diet Plan Immunity Booster Diet Plan
स्वास्थ्य1 month ago

Immunity Booster Diet Plan: इम्युनिटी बढ़ाने के लिए डाइट में शामिल करें ये 10 चीजें

Immunity Booster Diet Plan: कोरोना वायरस महामारी से बचने के लिए अपने आसपास साफ सफाई और खाने में अच्छी डाइट का...

Breaking news Breaking news
भारत1 month ago

Breaking News Bulletin: आज की प्रमुख खबरें

04:37 PM28-08-2020 J&K: शोपियां जिले के किलोरा इलाके में सुरक्षा बलों और आतंकवादियों के बीच मुठभेड़ 03:37 PM28-08-2020 NEET-JEE की...

खेल1 month ago

Today’s Top Sports News: इंग्लैंड-पाकिस्तान के बीच पहला टी-20 मैच आज

इंग्लैंड और पाकिस्तान के बीच तीन मैचों की टी20 इंटरनैशनल सीरीज का पहला मैच 28 अगस्त को खेला जाना है।...

MP-Electricity-Bill-News MP-Electricity-Bill-News
भारत1 month ago

MP ऊर्जा मंत्री की भाभी का सात महीने में आया 1 करोड़ का बिल

मध्य प्रदेश में बिजली कंपनी ने ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर के परिवार को भी नहीं बक्शा और बिजली का...

स्वास्थ्य1 month ago

Corona Vaccine: ऑक्सफर्ड के कोविड-19 टीके का इंसानों पर दूसरे चरण का परीक्षण शुरू

ऑक्सफर्ड के कोविड-19 टीके (Oxford Covid-19 Vaccine) का मानव पर दूसरे चरण का क्लीनिकल परीक्षण यहां बुधवार को एक मेडिकल कॉलेज अस्पताल...

Monsoon Vehicle Care Tips Monsoon Vehicle Care Tips
बिज़नेस1 month ago

Monsoon Vehicle Care Tips: ये 6 बाते जरूर याद रखे

OnePlus Clover OnePlus Clover
बिज़नेस1 month ago

बजट सेगमेंट में धमाका करने आ रहा OnePlus Clover, मिलेगी 6000mAh की ‘महा-बैटरी’

टेक ब्रैंड वनप्लस ने मार्केट में वैल्यू-फॉर-मनी हैंडसेट्स ऑफर करते हुए जगह बनाई है और बीते दिनों मिड-रेंज प्राइस पर...

Mohit beniwal Mohit beniwal
उत्तर प्रदेश1 month ago

UP BJP ने किया क्षेत्रीय अध्यक्ष के नामों का ऐलान, मोहित बेनीवाल को मिली पश्चिम की कमान

बीजेपी में 2022 यूपी विधानसभा की तैयारियों को लेकर सुगबुगाहट तेज है। पिछले दिनों प्रदेश इकाई के बड़े पदों पर...

पिछले सेमेस्टर के आधार पर रिजल्ट देने पर करें विचार: हाईकोर्ट पिछले सेमेस्टर के आधार पर रिजल्ट देने पर करें विचार: हाईकोर्ट
एडुकेशन2 months ago

फाइनल एग्जाम पर रोक, पिछले सेमेस्टर के आधार पर रिजल्ट देने पर करें विचार: हाईकोर्ट

फाइनल एग्जाम के खिलाफ याचिका दायर करने वाले छात्रों को पंजाब एंड हरियाणा हाईकोर्ट ने बड़ी राहत दी है। हाईकोर्ट...

फाइनल एग्जाम के पक्ष में देश की 603 यूनिवर्सिटी फाइनल एग्जाम के पक्ष में देश की 603 यूनिवर्सिटी
एडुकेशन2 months ago

फाइनल एग्जाम के पक्ष में देश की 603 यूनिवर्सिटी, यूजीसी ने जारी की नई रिपोर्ट

यूजीसी गाइडलाइन के आधार पर देश भर की 603 यूनिवर्सिटी ने फाइनल एग्जाम कराने के पक्ष में सहमति दी है।...

Advertisement

Trending