Connect with us

राजनीति

नीतीश और पीके की नोकझोंक में बिहार में उभर रहे हैं नए राजनीतिक समीकरण

Published

on

पटना/नई दिल्ली। 2020 का पहला महीना लगभग बीत चुका है। दिल्ली के विधानसभा चुनाव कुछ दिनों में होने वाले हैं। इसके बाद बिहार का चुनावी बिगुल बजेगा जिसमें कुछ महीने बाकी हैं। इस चुनावी वर्ष में भले ही कुछ महीने का समय बाकी है, मगर इस चुनावी साल में कई बड़े राजनीतिक परिवर्तन बिहार में दिखाई दे रहे हैं। इसी कड़ी में एक बड़ा राजनीतिक कदम जदयू ने उठाया जब पार्टी अनुशासनहीनता का हवाला देते हुए पूर्व राज्यसभा सांसद पवन वर्मा और चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर को पार्टी से बर्खास्त करते हुए दोनों नेताओं को सभी जिम्मेदारियों से मुक्त कर दिया गया। पार्टी से निकाले जाने के बाद प्रशांत किशोर ने ट्वीट कर जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का धन्यवाद किया।

भले ही चुनाव में अभी कुछ महीनों की देरी है मगर प्रदेश सियासती तौर पर बड़े परिवर्तन के लिए तैयार दिख रहा है। 90 के दशक में सामाजिक न्याय के नाम पर शुरू हुई राजनीतिक लड़ाई पूरी तरह से बिखर चुकी है। 90 के दशक में बिहार की राजनीति से नायक बनकर उभरे लालू प्रसाद यादव अगड़ी जाति से प्रतिशोध की पिछड़ी राजनीति करते हुए चारा घोटाला में फंसकर परिवार समेत सूबे की राजनीति में अपना वजूद खो बैठे हैं। राजद की राजनीति तेजस्वी जैसे नौजवान के हाथ में देकर विरासत बचाने की फिराक में लगा लालू कुनबे की राजनीतिक जमीन हाशिए पर है।

राजद के समर्पित कार्यकर्ताओं का बड़ा गुट अब भी तेजस्वी को नेता मानने को तैयार नहीं है। लालू के राजनीतिक दवाब के बूते तेजस्वी उप-मुख्यमंत्री भले ही बन गए, लेकिन राजनीतिक तौर पर अभी भी नौसिखिए ही बने हुए हैं। उनके नेतृत्व में कार्यकर्ताओं से सामंजस्य बिठाने की बजाए अहंकार ज्यादा दिखता है। यही वजह है कि राष्ट्रीय जनता दल की जड़ें कमजोर और खोखली साबित हो रही हैं। गठबंधन की राजनीति में खुद को सत्ता में बनाए रखने की उनकी भूख उनको किसी भी प्रकार के जमीनी संघर्ष करने से रोकती है। पिछले डेढ़ दशक में यादव और मुस्लिम समीकरण बिलकुल बिखर चुका है।

लालू यादव के राजद से पीछा छुटाते हुए 15 साल पहले एक राजनीतिक बदलाव दिखा था। उस बदलाव में नीतीश कुमार पिछड़ों के के एक बड़े गुट के साथ अगड़ों का साथ लेकर लालू यादव के वोट बैंक में सेंध लगाकर सरकार में काबिज हो गए। नीतीश कुमार ने लालू के 15 सालों के शासन को कुशासन और जंगलराज बताते हुए राजद सुप्रीमो की अराजकता वाली खौफ दिखाकर सत्ता सुख भोगते रहे हैं। नीतीश को कभी भी राजनीतिक रूप से जमीनी नेता नहीं माना गया। 15 साल के मुख्यमंत्रित्व काल में दूसरे नेताओं ने उनकी राजनीतिक जमीन तैयार की। नीतीश का सियासी इतिहास भी पलटू राम वाला रहा है। जिन्होंने उन्हें सत्ता पर बिठाया उन्हीं का कद नापने की प्रवृति की वजह से वे अब तक सत्ता सुख भोगते रहे हैं।

विगत 5 वर्षों में शरद यादव, उदय नारायण चौधरी, वृषण पटेल, उपेंद्र कुशवाहा, जीतन राम मांझी जैसे क्षत्रप् पहले ही नीतीश का साथ छोड़ चुके हैं। आने वाले समय में इसकी फेहरिस्त बढ़ने की उम्मीद है। लालू विरोध में उन्हें जिन लोगों ने पिछड़ों के नाम पर बड़ा चेहरा बनाया, ऐसे नेताओं में कुर्मी नेता सतीश कुमार आज हाशिए पर हैं और कांग्रेस में अपनी संभावनाएं तलाश रहे हैं। नीतीश कभी नरेंद्र मोदी के चेहरे पर तो कभी लालू के राजद और कांग्रेस की मदद से सरकार बनाने और बचाए रखने में अब तक कामयाब रहे हैं। इसी कड़ी में जिस राजनीतिक फीडबैक और आंकड़ों के जरिए नीतीश मुख्यमंत्री बनने में कामयाब हुए, वो थिंक टैंक भी उनका साथ छोड़ चुका है।

ताजा घटनाक्रम के तहत नीतीश कुमार ने अपनी वो बैसाखी भी तोड़ी जिसने उनको मुख्यमंत्री बनाने की पूरी कैंपेन चलाई। मोदी-शाह की राजनीतिक प्रबंधक के तौर पर उभरे प्रशांत किशोर ने जिस प्रकार अपने राजनीतिक संबंधों के जरिए उनको सत्ता दिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई, वो पीके आज नीतीश से अलग हो चुके हैं। इतना ही नहीं राज्यसभा में जदयू का पक्ष मजबूती से रखने वाले पवन वर्मा ने भी जब उन्हें आइना दिखाने का प्रयास किया तो वे भी पार्टी से बाहर निकाले गए। चुनावी वर्ष में कुछ महीनों पहले पीके जैसे रणनीतिकार का इस प्रकार नीतीश खेमे से निकलना राजनीतिक रूप से उनको खोखला कर देगा।

सूत्र बताते हैं कि ले-देकर 2-4 चेहरों को लेकर चलने वाले नीतीश का साथ अंदरखाने उनके कई सलाहकार छोड़ चुके हैं। पीके और पवन वर्मा उनकी पहली किश्त के रूप में सामने आए हैं। पीके वर्तमान में दिल्ली के विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी को अपनी सेवाएं दे रहे हैं। पीके और पवन वर्मा के राजनीतिक विरोधी और पार्टी महासचिव केसी त्यागी के बेटे अमरीश त्यागी भी चुनावी रणनीति और प्रबंधन का कार्य करते रहे हैं। अमेरिका के वर्तमान राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की चुनावी प्रबंधन का काम और जीत का ताना-बाना उनके घर से ही बुना गया था। 2015 में महागठबंधन की सरकार में नीतीश कुमार का सोशल मीडिया भी अमरीश संभाल रहे थे। ऐसे में पीके को बाहर का रास्ता दिखाना एक नए चुनावी प्रबंधन का हिस्सा हो सकता है। नीतीश उनका साथ मिलने से बमबम हैं।

पीके आगामी चुनाव में अपनी सेवाएं किसको देने वाले हैं ये आने वाला समय बताएगा, मगर इतना तय है कि पीके कोई राजनीतिक दल नहीं बनाएंगे। प्रशांत किशोर की राजनीतिक महत्वाकांक्षा ऊंचाई पर है। वे एक बड़े राजनीतिक दल को समीकरण बनाकर नीतीश कुमार को बिहार से उखाड़ फेंकने के लिए रणनीति तैयार कर रहे हैं, ऐसा उनके नजदीकी सूत्र बता रहे हैं। पीके की नजर बिहार में कांग्रेस के बढ़ते ग्राफ से है। 2016 के लोकसभा चुनाव में भी बिहार में मोदी की प्रचंड लहर में कांग्रेस ने 1 सीट जीतने में सफलता हासिल की, जबकि राजद का सूपड़ा साफ हो गया। पिछले तीन दशकों से लालू और नीतीश के शासनकाल से जनता त्रस्त दिखाई दे रही है, वहीं कांग्रेस अपनी खोई जमीन तलाशने में जुटी है।

राहुल-प्रियंका गांधी के युवा नेतृत्व में बिहार में कांग्रेस के पक्ष में उभरते नए समीकरण की वजह से पीके को ये पार्टी मुफीद दिखाई दे रही है। एनआरसी, सीएए और किसानों, बेरोजगारों और नौजवानों की आवाज उठाने की वजह से पीके ने राहुल और प्रियंका को बधाई दे दी। इतना ही नहीं, प्रशांत किशोर ने पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष से हुई मुलाकात की अटकलों के बीच जदयू-भाजपा को औकात बनाते और राजद की जमीन छीनने की अपनी रणनीतिक पर अमल शुरू कर दी है। दिल्ली के चुनाव के बाद जब मौसम थोड़ा गर्म होगा, तब होली के रंगों की तरह किसके रंग उड़ते हैं और जनता किसको गुलाल लगाएगी, ये तय होगा।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Advertisement

मनोरंजन

Amrapali-Dubey-sexy-hot-dance-video-set-the-internet-fire Amrapali-Dubey-sexy-hot-dance-video-set-the-internet-fire
मनोरंजन4 weeks ago

Amrapali Dubey Sexy Photo Video: आम्रपाली दुबे ने सेक्सी फोटो शेयर कर ढाया कहर, बोल्डनेस देख फैंस रह गए दंग

Amrapali Dubey Sexy Photo Video: हमेशा ही अपनी सेक्सी फोटो वीडियो को लेकर चर्चा में रहने वाली एक्ट्रेस आम्रपाली दुबे एक...

Sunny Leone Sunny Leone
मनोरंजन4 weeks ago

सनी लियोनी कोलकाता के जाने-माने कॉलेज की मेरिट लिस्ट में टॉपर!

बॉलीवुड एक्ट्रेस सनी लियोनी का शुक्रवार सुबह एक ट्वीट देखकर लोग हैरान रह गए। दरअसल एक ट्विटर यूजर ने कोलकाता...

Monalisa hot photos Monalisa hot photos
मनोरंजन3 months ago

Monalisa Photos: ब्लैक टॉप और शॉर्ट्स में कहर ढा रही है मोनालिसा, फोटो देखते ही बन जाओगे दिवाने !

भोजपुरी एक्ट्रेस मोनालिसा (Monalisa) इन दिनों सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव हो गई है। लॉकडाउन (Lockdown) में वह अपने पति...

Amrapali Dubey Amrapali Dubey
मनोरंजन3 months ago

Amrapali Dubey Photo Video: आम्रपाली दुबे की हॉट फोटो ने बढ़ाया सोशल मीडिया का पारा

Amrapali Dubey Photo Video: भोजपुरी फिल्मों के मशहूर एक्ट्रेसों में से एक आम्रपाली दुबे की एक तस्वीर सोशल मीडिया पर काफी...

Poonam pandey Poonam pandey
भारत5 months ago

Lockdown के नियम तोड़कर मुश्किल में फंसीं एक्ट्रेस Poonam Pandey, हुआ मामला दर्ज

मुंबई पुलिस ने लॉकडाउन का उल्लंघन करने के आरोप में रविवार को मॉडल और अभिनेत्री पूनम पांडे (Poonam Pandey) के खिलाफ...

बड़ी खबरें

Immunity Booster Diet Plan Immunity Booster Diet Plan
स्वास्थ्य4 weeks ago

Immunity Booster Diet Plan: इम्युनिटी बढ़ाने के लिए डाइट में शामिल करें ये 10 चीजें

Immunity Booster Diet Plan: कोरोना वायरस महामारी से बचने के लिए अपने आसपास साफ सफाई और खाने में अच्छी डाइट का...

Breaking news Breaking news
भारत4 weeks ago

Breaking News Bulletin: आज की प्रमुख खबरें

04:37 PM28-08-2020 J&K: शोपियां जिले के किलोरा इलाके में सुरक्षा बलों और आतंकवादियों के बीच मुठभेड़ 03:37 PM28-08-2020 NEET-JEE की...

खेल4 weeks ago

Today’s Top Sports News: इंग्लैंड-पाकिस्तान के बीच पहला टी-20 मैच आज

इंग्लैंड और पाकिस्तान के बीच तीन मैचों की टी20 इंटरनैशनल सीरीज का पहला मैच 28 अगस्त को खेला जाना है।...

MP-Electricity-Bill-News MP-Electricity-Bill-News
भारत4 weeks ago

MP ऊर्जा मंत्री की भाभी का सात महीने में आया 1 करोड़ का बिल

मध्य प्रदेश में बिजली कंपनी ने ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर के परिवार को भी नहीं बक्शा और बिजली का...

स्वास्थ्य4 weeks ago

Corona Vaccine: ऑक्सफर्ड के कोविड-19 टीके का इंसानों पर दूसरे चरण का परीक्षण शुरू

ऑक्सफर्ड के कोविड-19 टीके (Oxford Covid-19 Vaccine) का मानव पर दूसरे चरण का क्लीनिकल परीक्षण यहां बुधवार को एक मेडिकल कॉलेज अस्पताल...

Monsoon Vehicle Care Tips Monsoon Vehicle Care Tips
बिज़नेस4 weeks ago

Monsoon Vehicle Care Tips: ये 6 बाते जरूर याद रखे

OnePlus Clover OnePlus Clover
बिज़नेस4 weeks ago

बजट सेगमेंट में धमाका करने आ रहा OnePlus Clover, मिलेगी 6000mAh की ‘महा-बैटरी’

टेक ब्रैंड वनप्लस ने मार्केट में वैल्यू-फॉर-मनी हैंडसेट्स ऑफर करते हुए जगह बनाई है और बीते दिनों मिड-रेंज प्राइस पर...

Mohit beniwal Mohit beniwal
उत्तर प्रदेश4 weeks ago

UP BJP ने किया क्षेत्रीय अध्यक्ष के नामों का ऐलान, मोहित बेनीवाल को मिली पश्चिम की कमान

बीजेपी में 2022 यूपी विधानसभा की तैयारियों को लेकर सुगबुगाहट तेज है। पिछले दिनों प्रदेश इकाई के बड़े पदों पर...

पिछले सेमेस्टर के आधार पर रिजल्ट देने पर करें विचार: हाईकोर्ट पिछले सेमेस्टर के आधार पर रिजल्ट देने पर करें विचार: हाईकोर्ट
एडुकेशन2 months ago

फाइनल एग्जाम पर रोक, पिछले सेमेस्टर के आधार पर रिजल्ट देने पर करें विचार: हाईकोर्ट

फाइनल एग्जाम के खिलाफ याचिका दायर करने वाले छात्रों को पंजाब एंड हरियाणा हाईकोर्ट ने बड़ी राहत दी है। हाईकोर्ट...

फाइनल एग्जाम के पक्ष में देश की 603 यूनिवर्सिटी फाइनल एग्जाम के पक्ष में देश की 603 यूनिवर्सिटी
एडुकेशन2 months ago

फाइनल एग्जाम के पक्ष में देश की 603 यूनिवर्सिटी, यूजीसी ने जारी की नई रिपोर्ट

यूजीसी गाइडलाइन के आधार पर देश भर की 603 यूनिवर्सिटी ने फाइनल एग्जाम कराने के पक्ष में सहमति दी है।...

Advertisement

Trending